Munawwar Rana Death News: मशहूर शायर मुनव्वर राणा का हुआ निधन, इन हस्तियों ने किया याद!

Munawwar Rana Death News: यदि आपको शायरी या फिर मुशायरा सुनने का शौक हो तो आप मशहूर शायर मुनव्वर राणा साहब को तो जरुर जानते होंगे। यह ऐसे शायर है, जिनकी मां के ऊपर कई सारे पंक्तियां काफी ज्यादा फेमस है। आपको बता दूं कि 14 जनवरी को देर रात मुनव्वर राणा का दिल का दौरा पढ़ने से निधन हो गया उन्होंने 71 साल की आयु में अपनी आखिरी सांस ली।

बताया जा रहा है, कि वह पिछले कई दिनों से लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती थे। उन्हे किडनी व हृदय रोग संबंधित समस्या थी। राणा देश के मशहूर शायरों में से एक थे. उनके एक से एक प्रसिद्ध शायरी लिखी जो की काफी ज्यादा फेमस हुई। यह हिंदू और उर्दू दोनों में शायरी लिखते थे। उनके फैंस अपने पसंदीदा शायर का यूं अचानक चले जाने से काफी ज्यादा दुखी है, आपको बता दूं कि इन्हें आज कई सारे दिग्गज श्रद्धांजलि दे रहे हैं। साथ ही इन्हें याद भी कर रहे हैं।

Munawwar Rana Death News: मुनव्वर राणा का 71 वर्ष की आयु में हुआ निधन

मशहूर शायर मुनव्वर राणा के अचानक मृत्यु के कारण उनके प्रशंसक काफी ज्यादा दुखी हैं। राणा के निधन पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शोक जताया है, उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लिखा अब तो इस गांव से रिश्ता हमारा खत्म होता है, फिर आंखें खोल ली जाए की सपना खत्म होता है, देश के जाने-माने शायर मुनव्वर राणा जी का निधन अंतिम हृदय विदारक दिवंगत आत्मा की शांति की कामना भावभीनी श्रद्धांजलि”।

Munawwar Rana Death News

आपको बता दूं कि साथ ही मशहूर कवि डॉक्टर कुमार विश्वास ने भी श्रद्धांजलि देते हुए उनके याद में एक पोस्ट साझा किया है। कुमार विश्वास ने अपनी पोस्ट में लिखा कि मुनव्वर राणा नहीं रहे! उनके जीवन की आखिरी दशक ने उनसे गंभीर मतभेद रहे. किंतु कवि सम्मेलन में यात्रा की शुरुआती दौर में मंचों पर उनके साथ काफी वक्त बिता। उन तमाम यादों के साथ उन्हें श्रद्धांजलि सहित ईश्वर से प्रार्थना है, कि उनके परिजनों को शक्ति प्रदान करें ओम शांति ओम।

मुनव्वर राणा से जुड़ी ये बातें

आपको बता दूं कि मुनव्वर राणा का जन्म 26 नवंबर 1952 को उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में हुआ था. 2014 में उन्हें उनकी लिखी किताब सहाड़वा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार भी मिला। मुनव्वर भले ही उत्तर प्रदेश में जन्मे, लेकिन उन्होंने अधिकतर जीवन पश्चिम बंगाल के कोलकाता में बिताया। उर्दू के शायर थे, लेकिन वह अपनी शेरों में अवधि और हिंदी शब्दों का प्रयोग अधिक करते थे। जिस कारण उन्हें भारतीय लोगों की लोकप्रियता मिली मुनव्वर एक उम्दा शैली के शेयर थे।

AttributeInformation
Mool NaamSayyad Munawwar Ali
Upnaam NaamMunawwar Rana (Munawwar Rana)
Date of Birth26 November 1952
Place of BirthRaebareli, Uttar Pradesh
EducationB.Com
LanguagesUrdu, Hindi
GenresPoetry, Ghazal, Nazm
Awards and HonorsSahitya Akademi Award (2014), Mati Ratan Samman, Amir Khusro Award, Ghalib Award, and more
Date of Death14 January 2024
Munawwar Rana Biography

उनकी कलम के प्रेम का अधिकांश हिस्सा मान के लिए होता था उर्दू साहित्य में महारत हासिल करने पर उन्हें 2012 में शहीद शोध संस्थान द्वारा माटी रत्न सम्मान से भी नवाजा गया। 2014 में साहित्य अकादमी पुरस्कार मिलने के बाद उन्होंने इस लौटा दिया था, और कभी भी सरकार की तरफ से कोई अवार्ड न लेने की कसम खाली थी। मुनव्वर राणा की बेटी सुमैया राणा ने पीटीआई को बताया कि उनके पिता का लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में निधन हो गया है, और सोमवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा उनके परिवार में उसकी पत्नी चार बेटियां और एक बेटा भी है।

READ MORE: Gungun Gupta Viral Video: यहां देखें गुनगुन गुप्ता का फूल MMS वीडियो!

Leave a comment