Ustad Rashid Khan Passed Away: शास्त्रीय संगीत के धुरंधर उस्ताद रशीद खान का निधन, जानें मौत की वजह

Ustad Rashid Khan Passed Away: यदि आप शास्त्रीय संगीत के शौकीन है तो अपने शास्त्रीय संगीत के उस्ताद राशिद खान के बारे में जरूर सुना होगा। उनके गाने को अपने जरूर कहीं ना कहीं बजते हुए सुना होगा। ये अपनी गायिकी के लिए पूरे दुनिया भर में मशहूर है, इन्होंने शास्त्रीय संगीत में महारथ हासिल की हुई है।

लेकिन अब उनके फैंस को काफी तगड़ा झटका लगा है। आपको सुनकर काफी दुख होगा कि शास्त्रीय संगीत के उस्ताद राशिद खान अब नहीं रहे। मंगलवार को कोलकाता के अस्पताल में उन्होंने 55 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली जैसे ही उनके फैंस को एक खबर सुनने को मिला उनका गहरा सदमा लगा। लोग उनके मौत की वजह जानने के लिए काफी ज्यादा बैचन हो रहे हैं, यदि आप भी उनके मौत का वजह जानना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल के अंत तक बन रहे तो चलिए बिना किसी देरी के शुरू करते हैं।

Ustad Rashid Khan Passed Away
Ustad Rashid Khan Passed Away

Ustad Rashid Khan Passed Away: जानें मौत का कारण

आपको बता दूं कि शास्त्रीय संगीत के उस्ताद राशिद खान ने 55 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली है। खबर ऐसी आ रही है, कि वो प्रोस्टेट कैंसर से जूझ रहे थे, दिसंबर में उनकी सेहत बिगड़ने लगी थी। 23 दिसंबर को अस्पताल में भर्ती करवाया गया पिछले कुछ दिनों से वह आईसीयू में भर्ती थे, और वेंटिलेटर पर थे। शुरुआत में उनका इलाज मुंबई के टाटा मेमोरियल कैंसर अस्पताल में चला लेकिन बाद में वह कोलकाता लौट आए थे। अंत में मंगलवार को कोलकाता के अस्पताल में उन्होंने अपनी आखिरी सांस ली।

Ustad Rashid Khan Biography

उस्ताद रशीद खान का जन्म उत्तर प्रदेश के बदायूं में हुआ था। उन्होंने संगीत में तालीम अपने नाना उस्ताद निसार हुसैन खान से ली थी। राशिद खान की पहली मंच की प्रस्तुति 11 साल की उम्र में थी। आपको पता हो कि वह रामपुर सहसवान घराने के गायक थे। उन्होंने फिल्मों में भी अपनी आवाज दी। जब वी मेट जैसे बड़े फिल्मों में उन्होंने अपनी शानदार आवाज द। उनके फिल्म का गाना “आओगे जब तुम सजना” काफी ज्यादा हिट हुआ था।

AttributeDetails
NameUstad Rashid Khan Sahab
GharanaRampur Sahaswan Gharana
LineageGreat grandson of Gharana founder Ustad Inayat Hussain
Initial TrainingReceived initial training from maternal grand-uncle, Ustad Nissar Hussain Khan
Academy JoiningJoined the academy at the age of 14 in April 1980
RecognitionAcknowledged as a musician at the academy by 1994
Gayaki (Style of Singing)Rampur-Sahaswan gayaki, closely related to the Gwalior Gharana
Musical ExperimentationExperimented with fusing pure Hindustani music with lighter genres, such as in the Sufi fusion recording “Naina Piya Se” (songs of Amir Khusro)
Awards and Honors– Padma Shri
– Sangeet Natak Academy Award
Bio Data

राशिद खान अपने नाना की तरह विलंबित ख्यालों में उस्ताद आमिर खान और पंडित भीमसेन जोशी की गायकी से प्रभावित थे। उन्होंने बॉलीवुड इंडस्ट्री में कई सारे गाने गाए। उन्होंने कई सारे सुपरस्टार के लिए भी अपनी आवाज दी। बॉलीवुड जगत के अपनी आवाज से मंत्र मुक्त करने वाले उस्ताद राशिद खान को पद्मश्री और पद्म भूषण से भी नवाजा गया था। राशिद का संगीत करियर 11 साल की उम्र में ही शुरू हो गया था।

READ MORE: Tiger 3 OTT Release: थिएटर के बाद अब OTT पर धूम मचाएंगीं सलमान खान की फिल्म टाइगर 3

Leave a comment